Thursday, July 25, 2019

desh bhakti shayari in hindi 1000+ sayari


 desh bhakti shayari in hindi 15 August , 26 January, Independence day speech


https://www.latestphoneprice.com/
desh bhakti shayari 




जैसा की आप सब जानते हैं हमारे देश में कई  महान देशभक्तों ने अपनी जान की परवाह किए बगैर हमारे देश के ऊपर अपनी जान निछावर कर दी.  आज हम कुछ ऐसे ही जवानों को सलाम करते हैं.  हमारा भारत देश आज स्वतंत्र रूप से आजाद है इसकी आजादी के लिए हमारे कई देश भक्तों ने अपने जीवन का बलिदान दे दिया था.  ऐसे ही देशभक्तों में चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, सुखराज, सुभाष चंद्र बोस, लाला लाजपत राय व महात्मा गांधी आदि हैं.  26 जनवरी और 15 अगस्त के उपलक्ष में आज हम आपके सामने कुछ देशभक्ति शायरी पेश करने वाले हैं. जिसे आप whatsapp stauts, facebook, massages & greetings के तौर पर शेयर कर सकते हैं.  जय हिंद! जय भारत !  भारत माता की जय !


Desh Bhakti Shayari In Hindi – Watan Shayari In Hindi


 आजादी की कभी शाम ना होने देंगे,शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
 बची हो जो एक बूंद भी लहू की, तब तक भारत माता का आंचल नीलाम नहीं होने देंगे.

मेरा हिंदुस्तान महान   था,
 महान है और महान रहेगा.
 होगा हौसला सबके दिलों में बुलंद,
 तो 1 दिन पार्क भी जय हिंद कहेगा

लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा’’
मैं रहूं या ना रहूं पर यह वादा है तुमसे मेरा की,
 मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा.

मुझे ना तन चाहिए ना धन चाहिए,
 बस अमन से भरा यहां वतन चाहिए,
 जब तक जिंदा रहूं इस मातृभूमि के लिए,
 और जब मरू तो तिरंगा कफन चाहिए.


 मत पूछो जमाने से,
 क्या हमारी कहानी है,
 हमारी पहचान तो सिर्फ यह है,
 कि हम सिर्फ हिंदुस्तानी हैं,

मैं भारतवर्ष का हरदम अमित सम्मान करता हूं,
 यहां की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूं,
 मुझे चिंता नहीं स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफन मेरा बस यही अरमान रखता हूं.

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेलेवतन पर मर मिटने वालों का बाकी यही निशा होगा’’

 अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
 इसीलिए मेरा भारत महान है.

खुश नसीब है वह जो वतन पर मर  मिट जाते हैं,
 मर कर भी लोग अमर हो जाते हैं,
 करता हूं उन्हें सलाम ए वतन पर मिटने वालों,
 तुम्हारी हर सांस में तिरंगे का नसीब बसता है. 



 जो अब तक न खौला वो खून नहीं पानी है, जो देश के काम ना आए वह बेकार जवानी है.

यह पेड़ ये पत्ते यह साठे भी परेशान हो जाए,
 अगर परिंदे में हिंदू और मुसलमान हो जाए,
 ना मस्जिद को जानते हैं, नशे वाले को जानते हैं,
 जो भूखे पेट है वह, सिर्फ नी वालों को जानते हैं,
 मेरा यही अंदाज जमाने को खलता है.
 कि मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है.
 मैं अमन पसंद हूं, मेरे शहर में दंगा रहने दो,
 लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छाती पर तिरंगा रहने दो.

 जिंदगी अब तुझ को  समझा, मौत फिर क्या चीज है.
 ए वतन तू ही बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है.

सीने में जुनूनआंखों में देशभक्तिकी चमक रखता हूं,
 दुश्मन की सांसे थम जाएंआवाज में वह धमक रखता हूं….

 आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं
 तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी यह पहचान है.

 देश को आजादी के नए अफसानो की जरूरत है,
 भारत आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है….
 भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है,

 लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा,
 मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा,
 मैं रहूं या ना रहूं पर यह वादा है तुमसे मेरा की,
 मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा,,

मेरा हिंदुस्तान महान था,
 महान है और महान रहेगा,
 होगा हौसला बुलंद सबके,
 तो 1 दिन  पार्क भी जय हिंद कहेगा..

 चलो फिर से आज वह नजारा याद कर ले, शहीदों के दिल में थी वह ज्वाला याद कर ले..
 जिस में बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पर, देशभक्तों के खून की वह धारा याद कर ले..

 
26 january desh bhakti shayari


जिन्हें है प्यार वतन से वह देश के लिए अपना लहू बहाते हैं ,
मां की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर देश की आजादी बचाते हैं,
 देश के लिए हंसते-हंसते अपनी जान लुटाते हैं.

 हल्की सी धूप बरसात के बाद,
 थोड़ी सी खुशी हर बात के बाद,
 इसी तरह मुबारक हो आपको,
 आजादी 1 दिन के बाद,.

वतन हमारा ऐसे  ना छोड़ पाए कोई
 रिश्ता हमारा ऐसे ना छोड़ पाए कोई,
 दिल हमारे एक हैं एक है हमारी जान,
 हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान.



 देश को आजादी के नए अफसानो की जरूरत है,
 भगत आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,
 भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है,.

 यह बात हवाओं को भी बताए रखना,
 रोशनी होगी चिरागो  को जलाए रखना,
 लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की….
 ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना..

इश्क तो करता है हर कोई,
 महबूब पर मरता है हर कोई,
 कभी वतन को महबूब बना कर देखो,.
 तुझ पर मरेगा हर कोई………!!!!!

 खून से खेलेंगे  होली,
 अगर वतन मुश्किल में है,
 सरफरोशी की तमन्ना,
 अब हमारे दिल में है,
 आओ मिलकर करें देश को सलाम,
 बोलो मेरा भारत महान ….

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
 कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
 हम लहराएंगे हर जगह यह तिरंगा,
 नशा ये हिंदुस्तान की शान का है

 चलो फिर से आज वह नजारा याद कर ले,
 शहीद शहीदों के दिल में थी वह ज्वाला याद कर ले,
 जिस में बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पर,
 देशभक्तों के खून की वह धारा याद कर ले……

WISH YOU ALL A HAPPY INDEPENDENCE DAY !! 
MAY OUR COUNTRY PROGRESS IN EVERYWHERE AND IN EVERYTHING 
SO THAT THE WHOLE WORLD SHOULD HAVE PROUD ON US
 HINDUSTAN JINDABAD !!

आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !
इश्वर करे की हमारा देश सभी जगह और सभी चीज में उन्नति करे,
ताकि पूरी दुनिया को हम पर गर्व हो.
हिंदुस्तान जिंदाबाद !!

0 comments: